Benefits Of Poppy Seeds In Hindi

Benefits Of Poppy Seeds In Hindi : खसखस का नाम तो अधिकतर लोगो ने सुना होता है लेकिन खस खस (Poppy Seeds) के बारे में पूर्ण जानकारी काफी कम इंसानो को होती है| अगर आपको खस खस के बारे में जानकारी नहीं है तो यह पेज आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है, इस पेज में हम आपको खसखस कया है?, खसखस में कौन कौन से पोषक तत्व होते है? खस खस के फायदे कया है? और खस खस के नुकसान कया है? इत्यादि के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है| प्राचीन समय से खस खस के औषधीय गुणों की वजह से जड़ी बूटी के रूप में किया जाता है, आयुर्वेद के अनुसार खसखस की खेती 2000 वर्षों से भी ज्यादा समय से हो रही है। खस खस की खेती भारत (दक्षिण भारत, राजस्थान, बंगाल, नागपुर) के साथ साथ यूरोपीय देशों, ऑस्ट्रेलिया और तुर्की इत्यादि में होती है।

Table of Contents

खसखस के प्रकार – Types Of Poppy Seeds In Hindi

भारत में आमतौर पर एक ही प्रकार की खसखस देखने को मिलती है,लेकिन खसखस अलग अलग प्रकार की होती है, चलिए अब हम आपको खसख्स के प्रकार के बारे में जानकारी दे रहे है –

  • नीली खसखस – इस प्रकार की खस खस (Blue Poppy Seeds In Hindi) नीले रंग की होती है और इस खसखस को यूरोपीय खसखस के नाम से जाना जाता है| नीली खस खस का इस्तेमाल ब्रेड, स्वीट और चॉकलेट इत्यादि में किया जाता हैं।
  • सफेद खसखस – सफेद खसखस – सफ़ेद रंग की खसखस (White Poppy Seeds In Hindi) का उत्पादन भारत और एशियाई देशो में होता है,सफ़ेद खसखस का इस्तेमाल ज्यादातर व्यंजनों में किया जाता है।
  • ओरिएंटल खसखस – ओरिएंटल खसखस (Poppy Seeds In Hindi) को ओपियम पॉपी के नाम से जाना जाता है, इस प्रकार की खसखस का सेवन करने से इंसान को नशा भी हो सकता है| इस प्रकार की खसखस का उपयोग सिमित मात्रा में करना जरुरी होता है|

खसखस के फायदे, Benefits Of Poppy Seeds In Hindi

खसखस के फायदे अनगिनत होते है, चलिए अब हम खसखस के फायदे के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

अधिक पसीना आने की परेशानी को खत्म करने में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds To Treat Sweating Problem In Hindi)

कुछ इंसानो को पसीना बहुत ज्यादा आता है, हालाँकि पसीना आना बहुत ही आम बात है| लेकिन अगर आपको बिना वजह या जरुरत से ज्यादा पसीना आ रहा है तो यह चिंता का विषय है| अगर आपको अधिक पसीना आने की परेशानी है और आप इसका घरेलू इलाज सर्च कर रहे है तो Benefits Of Poppy Seeds In Hindi या खसखस आपके लिए लाभकारी साबित हो सकती है, सबसे पहले थोड़ी सी खसखस की जड़ को पीसकर महीन चूर्ण बनाकर थोड़े से पानी के साथ घोलकर पेस्ट बना लें, फिर इस पेस्ट को शरीर पर लेप की तरह लगा लें, ऐसा करने से कुछ ही दिनों में अधिक पसीना आने की समस्या से छुटकारा मिल जाता है।

सूजन को कम करने में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Reducing Inflammation In Hindi)

खसखस में मौजूद औषधीय गुण और तत्व सूजन की परेशानी को कम करने में सहायक होते है, हालाँकि सूजन की समस्या शरीर के किसी भी भाग में आ सकती है, सूजन आने पर सबसे पहले किसी चिकित्सक से परामर्श जरूर करें| सूजन की समस्या होने पर नियंत रूप से लगभग 20 मिलीग्राम खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) का सेवन करने से जल्द सूजन की समस्या में आराम प्राप्त होता है।

उल्टी की समस्या को रोकने में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds To Vomiting In Hindi)

अगर आपको उल्टी आने की परेशानी हो रही है या उलटी की परेशानी बार बार हो रही है तो आपकी इस परेशानी को समाप्त करने में भी खसखस के फायदे देखे जा सकते है| उल्टी की समस्या होने पर खस खस, मूंग, पिप्पली और धनिए को बराबर मात्रा में लेकर सबको महीन पीस कर चूर्ण बना लें| फिर इस चूर्ण में से लगभग 10 ग्राम चूर्ण को एक कप पानी में रात भर के लिए भिगो कर रख दें, फिर सुबह उठ कर इस पानी को छान कर पीने से जल्द आपको उल्टी की परेशानी में लाभ मिलता है|

पेट में कीड़े समाप्त करने में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds Remedy For Abdominal Bug In Hindi)


हालाँकि पेट में कीड़ो की समस्या बच्चो में ज्यादा देखि जाती है लेकिन कई बार बड़ो के पेट में भी कीड़े होने की समस्या हो जाती है| अगर आप पेट में कीड़ो की घरेलू दवा सर्च कर रहे है तो खसखस आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है| नियमित रूप से खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) का सेवन करने से पेट कीड़े समाप्त हो जाते है|

त्वचा से सम्बंधित परेशानी को खत्म करने में Poppy Seeds के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Skin Disease In Hindi)

आज के समय काफी सारे महिला या पुरुष त्वचा से सम्बंधित परेशानी का सामना कर रहे है, खसखस में मौजूद औषधि गुण और पोषक तत्व त्वचा के रोगो को दूर करने में सहायक होते है| अगर आप त्वचा से सम्बंधित परेशानियो को समाप्त करना चाहते है तो नागरमोथा, धनिया और खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) तीनो चीजों को थोड़े से पानी के साथ महीन पीसकर पेस्ट बना लें, फिर इस पेस्ट को त्वचा पर लगा लें और लगभग 20 से 30 मिनट लगा रहने दें फिर ताजे पानी से धो लें| सप्ताह में दो से तीन बार इस लेप को करने जल्द त्वचा स्वस्थ और त्वचा से सम्बंधित परेशानियों से आराम मिलता है|

कुष्ठ रोग की परेषानी को कम करने में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds Leprosy Disease In Hindi)

खसखस में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व कुष्ठ रोग की परेशानी में फायदेमंद साबित होते है, हालाँकि कुष्ठ रोग होने पर खसखस के फायदे का पूर्ण लाभ लेने के लिए खसखस का उपयोग आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह से ही करें| चिकित्सक की सलाह से खसखस का इस्तेमाल करने से कुष्ठ रोग से जल्द आराम मिल सकता है, खसखस की जड़ को बारीक पीस कर चूर्ण बना लें, फिर नियमित रूप से लगभग 20 मिलीग्राम चूर्ण का सेवन करने से जल्द आराम मिलता है|

पेशाब से सम्बंधित रोगो को दिर करने में Poppy Seeds के फायदे(Benefits Of Poppy Seeds In Hindi)

आज के समय में अधिकतर महिला या पुरुष पेशाब से संबंधित रोगो का सामना कर रहे है, अगर आप पेशाब से संबंधित परेशानी जैसे- पेशाब कम आना, पेशाब बार बार आना इत्यादि का सामना कर रहे है तो खसखस आपकी इस परेशानी को कम करने में सहायक होते है|Benefits Of Poppy Seeds In Hindi या खस खस की जड़ में मौजूद औषधीय गुण और तत्व पेशाब से सम्बंधित परेशानी को दूर करने में मददगार होते है, थोड़ी सी खसखस की जड़ को पीस कर महीन चूर्ण बना लें फिर चौथाई चम्मच खसखस की जड़ का चूर्ण और लगभग आधी चम्मच्च मिश्री को अच्छी तरह से मिलकर सेवन करने से कम पेशाब आने की समस्या और मूत्र से सम्बंधित अन्य परेशानियो में भी लाभ मिलता है|

बवासीर का इलाज करने में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Piles In Hindi)

अगर आप बवासीर की परेशानी से पीड़ित है और आप बवासीर का इलाज सर्च कर रहे है तो खसखस आपके लिए बवासीर की घरेलू दवा साबित हो सकती है| हालाँकि बवासीर की परेशानी होने पर सबसे पहले आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श लें, क्योंकि आपकी परेशानी के अनुसार दवा की उचित मात्रा की जानकारी आपको चिकित्सक ही दे सकता है| नियमित रूप से 20 मिलीग्राम खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) का सेवन करने से बवासीर की परेशानी से आराम मिलता है| बवासीर की परेशानी में खसखस के फायदे का पूर्ण लाभ लेने के लिए उचित मात्रा मे सेवन करना बहुत जरुरी है|

चेचक की परेशानी में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi)

चेचक की परेशानी का सामना कोई भी इंसान कर सकता है, कई बार चेचक की परेशानी की वजह से शरीर में जलन, दर्द इत्यादि की परेशानी हो सकती है| चेचक और चेचक की वजह से होने वाली परेशानियो को दूर करने में खसखस के फायदे देखे जा सकते है| खसखस को बारीक पीस कर चूर्ण बना लें, फिर थोड़े से पानी में इस चूर्ण को मिलाकर पेस्ट बना लें, फिर इस पेस्ट को चेचक से प्रभावित वाली त्वचाःपर लगा लें, फिर लगभग 20 से 30 मिनट बाद त्वचा को धो लें, इस लेप को करने से जल्द आपको चेचक की बीमारी और चेचक की बीमारी से होने वाली परेशानियों से आराम प्राप्त होता है।

बुखार का इलाज करने में Poppy Seeds या खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi)

अगर आप बुखार से ग्रसित है तो खसखस आपके लिए बुखार की घरेलू दवा की तरह काम आ सकती है| खसखस में मौजूद औष्धीय गुण और पोषक तत्व बुखार की समस्या से आराम दिलाने में सहायक होते है| खसखस की जड़ को कूट कर एक गिलास में उबाल लें, फिर जब पानी चौथाई रह जाएं तो उसे छान लें, फिर छने हुए मिश्रण में से लगभग 20 मिलीग्राम छने हुए मिश्रण को सुबह और शाम पीने से लाभ प्राप्त होता है| बुखार में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) का पूर्ण लाभ लेने के लिए चिकित्सक से परामर्श जरूर करें|

डायबिटीज की परेशानी को दूर करने में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi)

डायबिटीज की बीमारी से पीड़ित इंसानो की संख्या बहुत ज्यादा हो चुकी है, अगर आप भी मधुमेह की परेशानी से पीड़ित है तो खसखस आपके लिए भी फायदेमंद हो सकती है। खसखस में मौजूद गुण और तत्व डायिबटीज को नियंत्रित करने में मददगार साबित होते है, नियमित रूप से 20 मिलीग्राम Benefits Of Poppy Seeds In Hindi या खसखस की जड़ के चूर्ण का सेवन करने से जल्द मधुमेह की परेशानी में आराम मिलता है|

शरीर या पेट की जलन को खत्म करने में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi)

कई बार इंसान के शरीर में जलन की परेशानी हो जाती है, अगर आपके शरीर में जलन की परेशानी हो रही है तो आपकी इस समस्या का समाधान खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) से किया जा सकता है| खसखस की जड़ को महीन पीसकर चूर्ण बना लें, फिर इस चूर्ण को थोड़े से पानी के साथ पेस्ट बनाकर शरीर पर लगा लें, ऐसा करने से जल्द ही शरीर की जलन से आराम मिलता है।

खून की कमी को दूर करने में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi)

बहुत सारे पुरुष या महिलाओ के शरीर में खून की कमी का सामना कर रहे है, किसी भी इंसान के शरीर में खून की कमी होने की समस्या को एनीमिया कहा जाता है| अगर आपके शरीर में खून की कमी है तो इस परेशानी को दूर करने में खसखस के फायदे देखे जा सकते है| खसखस में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व खून की कमी को दूर करने में सहायक होते है, नियमित रूप से खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) का सेवन करने से जल्द ही खून की कमी (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) बहुत जल्द दूर हो जाती है।

सीने के दर्द की परेशानी में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi)

अगर आप सीने में दर्द की परेशानी का सामना कर रहे है तो सबसे पहले सीने में दर्द होने की वजह जरूर जान लें, सीने में दर्द की परेशानी को कम करने में खसखस के फायदे देखे जा सकते है, खस की जड़ का चूर्ण, पिप्पली की जड़ का चूर्ण और थोड़ा सा घी लेकर तीनो चीजों को अच्छी तरह से मिलाकर सेवन करने से जल्द छाती के दर्द में लाभ मिलता है|

दर्द निवारक के रूप में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi)

शरीर में दर्द की परेशानी किसी भी महिला या पुरुष को हो सकती है, अगर आपके शरीर में दर्द है तो खसखस आपके लिए लाभकारी साबित हो सकती है|Benefits Of Poppy Seeds In Hindi या खसखस के तेल में मौजूद एन्टी-इंफ्लैमटोरी और दर्द निवारक गुण की वजह से यह दर्द की समस्या से आराम दिलाने में सहायक होता है।

मुँह के छाले का इलाज करने खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi)

आमतौर पर मुंह छाले होने पर कहा जाता है की पेट में गर्मी या शरीर में पित्त की मात्रा बड़ जाने की वजह से मुँह में छाले की समस्या होती है| खसखस में मौजूद औषधीय गुण मुँह के छालो की समस्या को समाप्त करने में सहायक होते है| खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) का सेवन या खसखस का पेस्ट मुंह के छालो पर लगाने से जल्द आराम मिलता है|

आग से जलने पर जलन से राहत दिलाने खसखस के फायदे ( Benefits Of Poppy Seeds In Hindi)

अगर आपके शरीर का कोई सा हिस्सा आग से जल जाता है तो इंसान जलन से परेशान हो जाता है, जलने पर अधिकतर इंसान उस भाग को पानी से धोने लगते है| लेकिन पानी जलन का इलाज नहीं करता है ऐसे में खसखस आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकता है| खसखस में मौजूद औषधीय और ठंडक प्रदान करने वाले गुण जलन को कम करने में सहायक होते है| अगर आपके शरीर का कोई हिस्सा आग से जल गया है तो थोड़ी सी खसखस ग्रास (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) को अच्छी तरह से धोकर महीन पीस लें, फिर पीसी हुई खसखस(Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) में थोड़ा सा नारियल तेल अच्छी तरह से मिलाकर जलन वाली जगह पर लगाने से जल्द आराम मिलता है|

अनिद्रा की परेशानी को दूर करने में खसखस के फायदे ( Benefits Of Poppy Seeds In Hindi)-

आज के समय बहुत सारे पुरुष या महिला नींद ना आने या अनिद्रा की बीमारी का सामना कर रहे है, हालाँकि कई बार नींद ना आने की वजह मानसिक तनाव भी हो सकता है| लेकिन अगर आपको किसी भी प्रकार का तनाव नहीं होने के बाद भी नींद नहीं आ रही है तो चिंता का विषय है| अगर आप भी अनिद्रा की परेशानी से पीड़ित है और आप इस परेशानी से राहत पाने के लिए घरेलू दवा ढूंढ रहे है तो खसखस आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकता है, खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) में मौजूद औषधीय गुण और तत्व नींद ना आने की समस्या को कम करने में मददगार साबित होते है। रात को पानी में कुछ बूंदे खसखस के तेल डालकर नहाने से जल्द आपकी अनिद्रा की परेशानी समाप्त हो जाती है|

डिप्रेशन की परेशानी दूर करने में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi)-

जिस प्रकार खसखस अनिद्रा की परेशानी को दूर करने में सहायक होती है उसी प्रकार खसखस डिप्रेशन की परेशानी को भी दूर करने में लाभदायक होती है| खसखस में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व डिप्रेशन और स्ट्रेस की परेशानी को कम करने में सहायक हो सकते है, डिप्रेशन और स्ट्रेस की समस्या से निजात पाने के लिए नियमित रूप से नहाने के पानी में खसखस (Poppy Seeds) के तेल की कुछ बूंदे डालकर नहाने से जल्द लाभ मिलता है|

बालों का झड़ना कम करने में खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi)-

खसखस में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व बालो के झड़ने की परेशानी को कम करने में सहायक होते है, आज केसमै बाल झड़ने की समस्या का सामना अधिकतर इंसान कर रहे है| अगर आप भी बाल झड़ने की समस्या का सामना कर रहे है तो खसखस आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है| खसखस को अच्छी तरह से धोकर पीस लें, फिर पीसी हुई खसखस में थोड़ा सा नारियल का तेल डालकर अच्छी तरह से मिलाकर बालो की जड़ो में लगा लें, लगभग 30 मिनट लगा रहने दें उसके बाद बालो को धो लें| हफ़्ते में दो से तीन बार खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) का इस्तेमाल करने से बहुत जल्द लाभ प्राप्त होता हैं।

खसखस के नुकसान – Side Effects Of Poppy Seeds In Hindi

औषधीय गुणों की वजह से खसखस के फायदे अनगिनत है, लेकिन कई बार गलत या अधिक मात्रा में सेवन करने से कुछ नुक्सान भी देखने को मिलते है| चलिए अब हम आपको खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) के नुक्सान के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

  • खसखस का सेवन करने से कई बार आपको एलर्जी की परेशानी भी हो सकती है|
  • कई बार खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) का सेवन करने से कब्ज, अपच की शिकायत भी हो सकती है |
  • अधिक मात्रा में सेवन करने से मतली की परेशानी भी हो जाती है|
  • अगर आपको खसखस का सेवन करने से सुस्ती की परेशानी भी हो सकती है|
  • खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) की तासीर की वजह से गर्भवती महिलाओ को खसखस का सेवन करने से पहले स्त्री चिकित्सक से परामर्श जरूर लें|
  • स्तनपान कराने वाली महिलाओ को खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) का सेवन उचित मात्रा में करना चाहिए या स्त्री डॉक्टर से परामर्श लेकर खसखस का सेवन करें|

खसखस में पाये जाने वाले पोषक तत्व और औषधीय गुण

खसखस में औषधीय गुण और पोषक तत्व काफी ज्यादा मात्रा में होते है, खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) में जिजोनोइक अम्ल, कैल्शियम, एजुलीन और फेरस ऑक्साइड, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, जिंक, फैटी एसिड, कोलेस्ट्रॉल के साथ साथ कई तरह के विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते है| खसखस में एन्टीबैक्टिरीयल, एंटीफंगल, एंटीकाटालैप्टिक, एनाल्जेसिक, एन्टी-इंफ्लैमटोरी, संधिशोध, एन्टीऑक्सिडेंट, एंटीर्ग्रराइटिक, स्टीमूलेंट इत्यादि औषधीय गुण मौजूद होते हैं।

खसखस (Poppy Seeds) के सेवन की विधि

खसखस के फायदे का पूर्ण लाभ लेने के लिए खसखस का सेवन उचित मात्रा में किया जाना बहुत जरुरी होता है, अगर खसखस का सेवन उचित मात्रा में ना किया जाएं तो आपको कुछ नुक्सान भी देखने को मिल सकते है| इसीलिए खसखस का सेवन आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह से करने पर जल्द लाभ मिलता है। खसखस (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) का सेवन आप खसखस चूर्ण, खसखस तेल और खसखस जूस के रूप में कर सकते है|

अनेक भाषाओं में खसखस के नाम (Name Of khas khas Or Poppy Seeds In Different Languages)

Poppy Seeds या खसखस का वानस्पतिक नाम वेटिवेरिया जिजनियोइडिस (Vetiveria Zizanioides ) होता है, Poppy Seeds या खसखस को अलग अलग भाषा में अलग नामो से पुकारा जाता है, चलिए अब हम खसखस के नाम के बारे जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

  • Poppy Seeds In Hindi – खस, गनरार, खस-खस, वीरन मूल, बेना
  • Poppy Seeds In English – Khas Khas Grass, Khas Khas, Poppy Seeds
  • Poppy Seeds In Sanskrit – वीरण, बहुमूलक, अमृणाल, समगन्धक
  • Poppy Seeds In Urdu – Khas
  • Poppy Seeds In Kannada – Mudival, vettiveru
  • Poppy Seeds In Gujarati – Sugandivalo
  • Poppy Seeds In Telugu – Kuruveru, Vettiveru
  • Poppy Seeds In Tamil – Ushiram, Vettiver
  • Poppy Seeds In Bengali – Vene-mool, Khaskhas
  • Poppy Seeds In Nepali – Khas
  • Poppy Seeds In Punjabi – Panni
  • Poppy Seeds In Marathi – Vala
  • Poppy Seeds In Malayalam – Ramachham
  • Poppy Seeds In Persian -Khusdana resha, Bikhivala
  • Poppy Seeds In Arabic – Izkhir

निष्कर्ष

हम आशा करते है की आपको हमारे द्वारा लिखा गया लेख खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) में दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी लेकिन किसी भी वजह से अगर आपको हमारा द्वारा दी जानकारी कम लग रही है तो आप गूगल या बिंग पर खसखस के फायदे (Benefits Of Poppy Seeds In Hindi) लिखकर सर्च करके और अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते है|

By Bryan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *