Home Remedies For Frequent Urination

बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय (Home Remedies For Frequent Urination) : आज के समय में काफी सारे पुरुष और महिला वार बार पेशाब आने की समस्या का सामना कर रहे है लेकिन अधिकतर महिला या पुरुष दार दार पेशाब आने की समस्या को इम्नोर कर देते है| अगर आप बार बार पेशाब आने की समस्या को लम्बे समय तक इम्नोर करते है तो कई बार इंसान को इसकी वजह से घातक परिणाम भी भुगतने पर सकते है, कुछ इंसान इंटरनेट पर बार बार पेशाब आना घरेलू उपाय, बार बार पेशाब आने के कारण, बार बार पेशाब आने के लक्षण, बार बार पेशाब लगने के कारण, बार बार बाथरूम आने के कारण, बार बार टॉयलेट जाने का कारण, बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय, बार बार पेशाब आने की दवा, बार बार पेशाब आने का रामबाण इलाज, बार बार पेशाब आने का घरेलू इलाज (Home Remedies For Frequent Urination) और बार पेशाब आने का घरेलू उपचार इत्यादि लिखकर सर्च करता है|

यह बात तो आप सभी भली भाँती जानते ही होंगे की हमारे शरीर में मौजूद जल और नमक की अतिरिक्त मात्रा पेशाब के रूप में बहार निकलती है| जब हमारे शरीर में नमक और पानी की अतिरिक्त मात्रा हो जाती है तो किडनी ब्लड फ्लो से इन्हे अलग करके पेशाब की पतली नलिकाओं में इस पानी को भेज देती है इन नलिकाओं को मूत्रवाहिनी के नाम से जाना जाता है| किडनी से होते हुए यह मूत्रवाहिनी मूत्राशय से जुडी होती है जो एक प्रकार की मजबूत बैली होती है। जब मूत्राशय की बैली भर जाती है तो स्पाइनल कॉर्ड के माध्यम से मूत्राशय मस्तिष्क को चैली भरने का संदेश भेजती हैं।

जिससे हमे पता चलता है की इंसान को पेशाब आ रहा है फिर जब इंसान पेशाब करने के लिए जाता है तो यह संदेश मस्तिष्क से मेरूरज्जु के माध्यम से मूत्राशय तक पहुँचता है। उसके बाद मूत्राशय की दीवार के ऊपर की ओर एक वाल्व होता है जो तभी खुलता है जब इंसान को पेशाब करना होता है पेशाब करने के बाद यह वॉल्व खुद ही बंद हो जाता है| जब इस प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की बाधा या परेशानी उत्पन्न होने पर इंसान को पेशाब करने में परेशानी हो सकती है| बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय (Home Remedies For Frequent Urination) जानने से पहले आपको बार पेशाब आने के कारण और बार पेशाब आने के लक्षण के बारे में भी जानना बेहद जरुरी है|

Table of Contents

बार-बार पेशाब आना क्या होता है?

यह भी बहुत बड़ा सवाल है की आखिर बार बार पेशाब आना कया होता है? चलिए आज हम आपकी इस परेशानी का समाधान करने की कोशिश करते है, दरसल किसी भी महिला या पुरुष को दिन में पांच से छह बार पेशाब आता है तो यह सामान्य होता है लेकिन अगर आपको इससे ज्यादा पेशाब आ रहा है तो इस स्थिति को बार बार पेशाब आने की समस्या या बार बार बाथरूम आने की समस्या से पीड़ित माना जाता है| बार बार पेशाब आने की समस्या का सामना पुरुष, महिला और बच्चे भी कर सकते है, आयुर्वेद की माने तो बार बार पेशाब आने की समस्या होने का प्रमुख कारण शरीर में कफ ओर वात का असंतुलन होता है।

लेकिन कया आप जानते है की पेशाब का रंग आपके शरीर में होने वाली परेशानी या बिमारी की जानकारी भी उपलब्ध करता है, पेशाब के रंग से आप बिमारी की पहचान कर सकते है| अगर आपको पेशाब के रंग के बारे में सही ज्ञान नहीं है तो परेशान ना हो आगे हम आपको पेशाब के रंग के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है|

काफी सारे इंसानो के मन में यह सवाल भी होता है की इंसान कितना पेशाब करता है, पेशाब की उचित मात्रा कया होती है तो हम आपको बता दें की पेशाब की मात्रा उम्र और मौसम के अनुसार बदलती रहती है| आमतौर पर बड़े एक दिन में एक से दो लीटर पेशाब करते है, इस मात्रा को सामान्य मात्रा माना जाता है, लेकिन गर्मियों के मौसम में इंसान को पसीना आता है, पसीने के रूप में शरीर से पानी और नमक बाहर निकल जाता है इसीलिए गर्मी के मौसम में इंसान को पेशाब कम मात्रा में आता है।

दूसरी तरफ सर्दी और बरसात के मौसम में इंसान को पसीना नहीं आता है, इसीलिए इन मौसम में इंसान को पेशाब अधिक मात्रा में आता है| अगर हम बच्चो की बात करें तो उन्हें बड़ो के मुकाबले काफी कम मात्रा में पेशाब आता है, अगर कोई भी इंसान एक दिन में 500 मिलीलीटर से कम पेशाब करता है तो उस इंसान को डॉक्टर से सलाह लेना बहुत जरुरी है| चलिए अब हम आपको पेशाब के रंग के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है-

  • गहरे पीले रंग का पेशाब आना – किसी भी महिला या पुरुष को पेशाब गहरे पीले रंग का रहा है तो इसका अर्थ है की आपके शरीर में पानी की कमी हो रही है| गहरे पीले रंग के पेशाब आने की स्थिति में आपको अधिक मात्रा में पानी और तरल पदार्थों का सेवन करना जरुरी होता है, अधिक मात्रा में पानी और तरल पदार्थों का सेवन करने से जल्द आपको लाभ मिलता है|
  • लाल रंग का पेशाव आना – जब किसी भी इंसान को लाल रंग का पेशाब आता है तो उसके मन में सबसे पहला सवाल आता है की लाल रंग का पेशाब आने कारण कया है| दरसल अगर आपको लाल रंग का पेशाब आ रहे है तो इसका कारण पेशाब में खून की मौजूदगी या कई बार कुछ दवाओं का सेवन करने की ठजह से भी पेशाब लाल आने लगता है| इस स्थिति में आपको लापरवाही नहीं करनी चाहिए तुरंत डॉक्टर से परामर्श और इलाज करना चाहिए क्योंकि लाल पेशाब आने का कारण किडनी, मूत्राशय, गर्भाशय और प्रोटेस्ट ग्रंथि के कारण इत्यादि हो सकते है|
  • गहरे लाल या काले रंग का पेशाब आना – अगर किसी भी इंसान को गहरे लाल रंग या काले रंग का पेशाब आता है तो इसका अर्थ है की आप किसी गंभीर परेशानी जैसे लीवर की खराबी, लीवर में गंभीर संक्रमण होना, हेपेटाइटिस, ट्यूमर, मेलानोमा, सिरोसिस या अन्य किसी गंभीर बिमारी से ग्रसित हो सकते है, ऐसे में बिना देरी के डॉक्टर से सलाह और इलाज करना चाहिए।
  • नारंगी रंग का पेशाब आना – हालांकि नारंगी रंग का पेशाब आने का प्रमुख कारण किसी दवा का सेवन होता है| जब आप उस दवा का सेठन बंद कर देते है तो पेशाब का रंग अपने आप सामान्य हो जाता है, अगर दवा का सेवन बंद करने के बाद या बिना किसी दवा के सेवन करें आपको नारंगी रंग का पेशाब आ रहा है तो आपको टेस्ट करने की जरुरत है।

बार-बार पेशाब होने के कारण (Causes Of Frequent Urination In Hindi)

जब किसी भी महिला या पुरुष को बार बार पेशाब आता है तो उसके मन में कई सारे सदाल आते है जैसे बार बार पेशाब आने के कारण कया है? बार बार पेशाब क्यों आता है? बार बार पेशाब आने की दजह, बार बार बाथरूम आने के कारण कया है? बार बार टॉयलेट आने के कारण कया है? इत्यादि| बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय के बारे में जानकारी देने से पहले हम आपको बार बार पेशाब आने के करने के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

  • जब किसी भी महिला या पुरुष के शरीर में मौजूद मूत्राशय की सक्रियता अत्यधिक हो जाती है तो इस स्थिति में इंसान को सामान्य से अधिक पेशाब आता है, बार बार पेशाब आने का यह प्रमुख कारण होता है।
  • यह तो हम सभी भली भांति जानते ही है की जब शरीर में मौजूद ब्लड में शुगर का लेवल बढ़ जाता है तो इंसान को शुगर की समस्या से पीड़ित माना जाता है|
  • मधुमेह की समस्या से पीड़ित इंसान के शरीर में अतिरिक्त ग्लूकोज पेशाब के रास्ते शरीर से बाहर निकलने लगता है। इसीलिए मधुमेह के रोग से पीड़ित इंसान को बार बार पेशाब आने की समस्या का सामना करना पड़ता है|
  • ऐसे महिला या पुरुष जो एक्सरसाइज़ या जिम करते है तो एक्सरसाइज करते समय उनके शरीर में मौजूद गंदगी पसीने के रास्ते से शरीर से बाहर निकल जाती है, पसीना निकलने की दजह से इंसान को प्यास ज्यादा लगती है, शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए बॉड़ी ढिल्ड़र अधिक पानी पीते हैं, जिसकी वजह से भी बार बार पेशाब आता है| कुछ दवाइयो का सेवन करने से भी बार बार पेशाब आने की समस्या का सामना करना पड़ जाता है, दवाइयो का सेवन बंद कर देते है तो बार बार पेशाब आना भी बंद हो जाता है|
  • बार बार पेशाब आने का कारण कॉफी और शराब का सेवन भी हो सकता है, ऐसे इंसान जो शराब या अन्य किसी मादक पदार्थ का सेवन करते है उन्हें बार बार पेशाब आने की परेशानी का सामना पड़ता है|
  • बार बार पेशाब आने का कारण या बार बार बाथरूम आने का कारण मूत्राशय का कैंसर भी होता है, अगर किसी भी को मूत्राशय के कैंसर की परेशानी होती है तो ऐसे इंसान को बार पेशाब आना या पेशाब में खून आने की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।
  • प्रत्येक इंसान के शरीर में मूत्र मार्ग मे प्रोस्टेट ग्रंथि होती है, जब प्रोस्टेट ग्रंथि बढ़ जाती है या प्रोस्टेट ग्रंथि पर दबाव पड़ने की वजह से भी बार बार पेशाब आना या बार बार टॉयलेट जाने की समस्या का सामना करना पड़ता है| हालांकि प्रोस्टेट ग्रंथि बढ़ने का पता आसानी से नहीं चलता है इसके लिए जांच करना जरुरी होता है लेकिन आप कुछ लक्षण जैसे पेशाब करने के बाद भी पेशाब आना महसूस होना और पेशाब करने में दिक्कत होना इत्यादि से पहचान कर सकते है|
  • बार बार बाथरूम आने का कारण प्रोस्टेट कैंसर भी हो सकता है| जब कोई भी इंसान प्रोस्टेट कैंसर की समस्या से पीड़ित होता है तो ऐसे इंसान को बार बार पेशाब आने की समस्या हो सकती है|
  • बार पेशाब आने कारण या बार बार टॉयलेट आने का कारण डर या मानसिक तनाव भी होता है| बार बार पेशाब आने की वजह शारीरिक ही नहीं बल्कि कुछ मामलो में मानसिक भी होती है, जब कोई इंसान किसी भी प्रकार के डर या चिंता का सामना करता है तो इस स्थिति में भी इंसान को बार बार पेशाब आने की समस्या हो सकती है|
  • जब किसी भी पुरुष या महिला के शरीर में मौजूद मूत्र पथ में संक्रमण की समस्‍या हो जाती है तो ऐसे इंसान को बार-बार बाथरूम या बार बार टॉयलेट करने की परेशानी हो सकती है|
  • अगर कोई इंसान इंटरस्टेशल सिस्टाईट्स के रोग से पीड़ित होता है तो इंटरस्टेशल सिस्टाईट्स की बिमारी में मरीज के मूत्राशय में सूजन आ जाती है, सूजन आने की वजह से बार बार पेशाब आना, पेशाब करते समय बहुत अधिक दर्द होना और संबंध बनांते समय भी बहुत ज्यादा तकलीफ महसूस होती है|
  • जब कोई भी महिला प्रेग्नेंट होती है तो प्रेगनेंसी के समय पर यूट्रस बड़ा हो जाता है, यूट्स के बढ़ने की वजह से ब्लैडर पर अधिक दबाव पड़ने लगता है, जिसकी ठजह से महिला को बार बार पेशाब आने की समस्या का सामना करना पड़ता है|
  • जब कोई भी महिला या पुरुष हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित होता है तो पीड़ित इंसान ब्लड प्रेशर को संतुलित करने के लिए डॉक्टर से दवा लेता है| कुछ मामलो में हाई ब्लड प्रेशर की दवा का सेवन करने से बार बार पेशाब आने की परेशानी हो जाती है।
  • अगर आप अधिक मात्रा में पानी पीते है तो अधिक पानी पीने की वजह से भी बार बार पेशाब आने की परेशानी हो सकती है| कई बार किन्ही कारणों की वजह से इंसान के शरीर में मौजूद मूत्राशय अधिक सक्रिय हो जाता है जिसकी दजह से इंसान को जल्दी जल्दी पेशाब लगता है|
  • बार-बार पेशाब आने का कारण यूरिनल टैक्ट इंफेक्शन (यूटी आई) भी होता है, अगर कोई इंसान यूरिन इंफेक्शन की समस्या से पीड़ित होता है तो इस वजह से भी बार बार बाथरूम आने की समस्या या बार बार पेशाब आना और जलन की परेशानी हो जाती है|
  • बार बार पेशाब आने का कारण किडनी का इंफेक्शन भी होता है, किडनी के इन्फेव्शन से पीड़ित इंसान को बार बार पेशाब आने की परेशानी होती है।
  • सर्दी के मौसम या ठंडे वातावरण में रहने पर भी बार बार पेशाब करने जाना पड़ता है, इसीलिए बार बार पेशाब आने का कारण सर्दी का मौसम भी होता है|
  • बार बार पेशाब आने का प्रमुख कारण कैफीन युक्त पदार्थो का सेवन अधिक मात्रा में करना थी होता है| इसीलिए कैफीन युक्त पदार्थों जैसे चाय, कॉफी और चॉकलेट इत्यादि का सेवन अत्यधिक मात्रा में करने से बचना चाहिए।
  • छोटे बच्चो में बार बार पेशाब आने का कारण पेट में कीड़े होना भी होता है, इसीलिए बार बार पेशाब आने की समस्या से बचने के लिए बच्चो को डॉक्टर की सलाह से पेट में कीड़ो की दवा देते रहना चाहिए। लेकिन हम आपको सलाह देंगे की कभी भी मर्जीसे बच्चो को कोई दवा ना दें, बच्चो को किसी भी प्रकार की दवा देने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें|

बार-बार पेशाब आने के लक्षण (Prevention Tips For Frequent Urination)

पेशाब का बार बार आने के अलावा भी कई सारे अन्य लक्षण होते है, चलिए अब हम आपको बार बार पेशाब आने के लक्षणों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

  • रात में बार बार पेशाब आना या दिन के मुकाबले रात में ज्यादा पेशाब आना|
  • कमर के निचले हिस्से में दर्द की परेशानी होना।
  • पेशाब पर कंट्रोल नहीं होना।
  • पेशाब करने में दर्द की परेशानी हो रही हो या पेशाब करने में ज्यादा समय लगना।
  • पेशाब में ब्लड का आना।
  • अचानक से पेशाब करने की तीठ इच्छा होना।
  • पेशाब करते समय जलन महसूस होना।

बार-बार पेशाब आने को रोकने के उपाय (Prevention Tips For Frequent Urinations)

बार बार पेशाब आने की समस्या से बचने के लिए आप कुछ उपाय या टिप्स अपना सकते है, अब हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने वाले है जिन्हे अपनाकर आप बार बार पेशाब आने की समस्या से अपने आपको बचा सकते है| चलिए जानते है बार बार पेशाब आने को रोकने के उपाय –

  • अगर बार बार पेशाब आने की समस्या से बचना चाहते है तो शरीर की साफ-सफाई का विशेष रूप से ध्यान रखें।
  • जब भी पेशाद करने जाएं तो साफ़ सुधरे टॉयलेट में ही जाना चाहिए इसीलिए घर में मौजूद टॉयलेट को हमेशा साफ-सुथरा रखना चाहिए।
  • अपने खान पीन की साफ़ सफाई का भी ख्याल रखना जरुरी है, रसोई की साफ़ सफाई का ख्याल रखें, खाना अच्छी तरह से धुलकर और सफाई का ख्याल रखते हुए बनाना चाहिए और खाना साफ़ जगह पर बैठ कर खाना चाहिए।
  • पानी और तरल पदार्थों का सेवन पर्याप्त मात्रा में करना चाहिए, शरीर में पानी की कमी से कई सारी परेशानियो का सामना करना पड़ सकता है|
  • अगर आपको दूरिन इन्फेक्शन पेशाद करते समय दर्द और जलन महसूस हो रही है हो लापरवाही नहीं करनी चाहिए तुरंत डॉक्टर से परामर्श और इलाज कराना चाहिए लापरवाही आपके लिए घातक हो सकती है|
  • मीठी चीजों का सेवन अधिक मात्रा में ना करें, अगर आप यूरिन इन्फेक्शन जैसी परेशानी से पीड़ित है तो मीठा आपके लिए हानिकारक हो सकता है|
  • कॉफी का सेवन सिमित मात्रा में करना चाहिए, दिन में एक या दो कप कॉफी आपके लिए फायदेमंद हो सकती है लेकिन अधिक मात्रा में कॉफी पीना घातक हो सकता है|

बार बार पेशाब आने का घरेलू इलाज (Home Remedies For Frequent Urination)

बार बार पेशाब आने पर अधिकतर इंसान बार बार पेशाब आने का घरेलू उपचार या बार बार पेशाब आने की दवा अपनाना पसंद करते है| चलिए अब हम आपको बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय की जानकारी उपलब्ध करा रहे है

बार-बार पेशाब आने का घरेलू इलाज है पालक (Spinach: Home Remedies For Frequent Urination)

जब कोई महिला या पुरुष मधुमेह के रोग से पीड़ित होता है तो पीड़ित इंसान को बार बार पेशाब आने की समस्या का सामना करना पड़ता है ऐसे में डॉक्टर शुगर से पीड़ित इंसान को पालक का सेवन करने को कहते है| अगर आप बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय या बार बार पेशाब आने की दवा ढूंढ रहे है तो पालक आपके लिए बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है| दरसल पालक में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व बार बार पेशाब आने की समस्या को समाप्त करने में मददगार साबित होते है, रात में डिनर में पालक का सेवन करने से जल्द बार बार पेशाब आने की समस्या से छुटकारा मिल जाता है|

बार-बार पेशाब आने का घरेलू इलाज है आंवला (Amla: Home Remedies For Frequent Urination)

प्राचीन समय से आंवला काफी सारी परेशानियो को दूर करने में उपयोग किया जाता है, अगर आप बार बार पेशाब आने या बहुमूत्रो ग से पीड़ित है और आप अपनी इन परेशानियो को द्वर करने के लिए घरेलू नुस्खा ढूंढ रहे है तो आवंला आपके लिए लाभकारी हो सकता है| सबसे पहले पांच ग्राम आवंले का रस, 5 ग्राम शहद और चुटकी भर हल्दी लेकर तीनो को अच्छी तरह से मिलकर सेवन कर जल्द ही बार बार पेशाब आने की परेशानी से जल्द निजात मिल जाती है, आवंले को आप बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय या बार बार बाथरूम आने की दवा के रूप में भी जाना जाता है।

बार-बार पेशाब आने का रामबाण इलाज है अदरक (Ginger: Home Remedies For Frequent Urination)

अदरक का इस्तेमाल सभी घरो में किया जाता है, सर्वियों के मौसम में चाय और सब्जी में अदरक का इस्तेमाल प्रमुख रूप से किया जाता है| अगर आप बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय या बार बार पेशाब आने की दवा सर्च कर रहे है तो आंवला आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है क्योंकि आंवले में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व बार बार पेशाब आने की समस्या को दूर करने में मददगार साबित होते है। सबसे पहले थोड़ा सा अदरक छील कर उसे पीसकर रस निकालकर छान लें, फिर नियमित रूप से सुबह और शाम दो चम्मच अदरक के रस का सेवन करने से जल्द ही बार बार पेशाब आने की समस्या में लाभ मिलता है, अदरक के रस का सेवन करने से यूरिन इन्फेक्शन में भी आराम मिलता है|

बार बार पेशाब आने की समस्या को दूर करने में सहायक है चना (Bengal Gram: Home Remedies For Frequent Urination)

अधिकतर इंसानो का मानना है की चने खाने से शारीरिक ताकत बढ़ती है इसीलिए कुछ इंसान चने को कमजोरी दूर करने की दवा भी कहते है लेकिन कया आप जानते है की चना बार बार पेशाब आने की समस्या को भी दूर करने में सहायक होता है| अगर आप बार बार पेशाब आने की समस्या का सामना कर रहे है तो नियमित रूप से भुने हुए चने का सेवन गुड़ के साथ करने से कुछ दिनों बाद आपको बार बार पेशाब आने की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा| चने को आप बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय या बार बार पेशाब आने की रामबाण दवा भी कह सकते है|

बार बार पेशाब आने की घरेलू दवा है दही (Curd: Home Remedies For Frequent Urination)

यह तो हम सभी भली भांति जानते ही है की दही हमारे शरीर और पेट के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होती है, लेकिन काफी कम इंसान जानते है की दही में मौजूद गुण और पोषक तत्व बार बार बाथरूम आने की परेशानी को दूर करने में मददगार होते है| नियमित रूप से खाने के साथ दही का सेवन करने से बार बार पेशाब आने की समस्या से जल्द मुक्ति मिल जाती है| दही को आप बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय या बार बार टॉयलेट जाने की दवा के रूप में भी जान सकते है|

बार बार पेशाब आने का घरेलू उपचार है सेब (Apple: Home Remedies For Frequent Urination)

काफी सारे इंसानो को दिन के मुकाबले रात में पेशाब ज्यादा आता है अगर आप भी ऐसी परेशानी का सामना कर रहे है तो सेब का सेवन आपके लिए फायदेमंद होता है| सेब में मौजूद गुण और पोषक तत्व रात में बार बार पेशाब आने की समस्या को दूर करने में सहायक होते है, नियमित रूप से रात को सोने से 2 या 3 सेब का सेवन करने से जल्द ही लाभ मिलता है| सेब को बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय या रात में बार बार पेशाब आने का इलाज भी कह सकते है।

बार-बार पेशाब आने की आयुर्वेदिक दवा है केला (Banana: Home Remedies For Frequent Urination)

बार बार पेशाब आने की समस्या को दूर करने में केला भी फायदेमंद होता है, केले में मौजूद पोषक तत्व और गुण बार बार पेशाब आने की समस्या को समाप्त करने में सहायक होते है, नियमित रूप से केले का सेवन करने से बार बार पेशाब आने की समस्या से जल्द राहत मिलती है, ख्याल रखें केले का सेवन अधिक मात्रा नहीं करना चाहिए।

बार-बार पेशाब आने का आयुर्वेदिक इलाज है मेथी के बीज (Fenugreek: Home Remedies For Frequent Urination)

अगर आप बार-बार पेशाब आने की परेशानी का सामना कर रहे है और आप बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय या बार बार पेशाब आने की दवा सर्च कर रहे है तो मेथी के बीज आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकते है| मेधी के बीजो में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व बार बार पेशाब आने की समस्या को समाप्त करने में सहायक होते है, मेथी के बीजो का सेवन करने से जल्द भी आराम मिलता है इस घरेलू नुस्खे का पूर्ण और जल्दी लाभ लेने के लिए वेध या चिकित्सक की सलाह से सेवन करें|

बार-बार पेशाब आने की घरेलू दवा है अनार का जूस (Pomegranate: Home Remedies For Frequent Urination)

शारीरिक कमजोरी, शरीर के अंदर पोषक तत्वों की कमी या शरीर में खून की कमी को दूर करने में अनार बहुत फादेमंद माना जाता है| अगर आपको बार-बार पेशाब आने की समस्या शरीर के अंदर पोषक तत्वों की कमी की वजह से हो रही है तो अनार आपकी इस परेशानी को दूर कर सकता है| अनार में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व शरीर में पोषक तत्वों की कमी को दूर करके बार बार पेशाब आने की समस्या से निजात दिलाता है| नियमित रूप से एक गिलास अनार के जूस का सेवन करने से जल्द लाभ मिलता है अनार के जूस को आप बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय या बार बार पेशाब आने की दवा भी कह सकते है|

बार बार पेशाब आने का घरेलू इलाज है बेकिंग सोड़ा (Baking Soda: Home Remedies For Frequent Urination)

बेकिंग सोडा भी बार बार पेशाब आने की समस्या को दूर करने में सहायक होता है, बेकिंग सोडा में मौजूद तत्व बार बार बाथरूम आने की परेशानी को दूर करने में मददगार साबित होते है| सबसे पहले एक गिलास पानी लेकर उसमे लगभग आधा चम्मरच बेकिंग सोडा डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पी लें. नियमित रूप से दिन में एक बार इस नुस्खे को अपनाने से जल्द आराम (बार बार पेशाबआने के घरेलू उपाय) मिलता है|

बार बार पेशाब आने का घरेलू उपचार है तुलसी (Tulsi: Home Remedies For Frequent Urination)

अगर आपको बार बार पेशाब आने की समस्या यूटीआई की वजह से हो रही है और आप बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय या बार बार पेशाब आने की दवा सर्च कर रहे है तो तुलसी आपके लिए लाभकारी साबित हो सकती है| तुलसी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, एंटीमाइक्रोबियल और औषधीय गुण यूटीआई का इलाज करने में सहायक होते है| सबसे पहले तुलसी की 5 से 7 पत्तियां लेकर उन्हें अच्छी तरह से धो कर पीस लें, फिर उन्हें छान कर रस निकाल लें, फिर छना हुआ रस और दो चम्मतच शहद लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिला कर सेवन कर लें| इस घरेलू नुस्खे को नियमित रूप से सुबह खाली पेट सेवन करने से बहुत जल्द लाभ मिलता है।

बार-बार पेशाब आने का घरेलू उपाय है ग्रीन टी (Green Tea: Home Remedies For Frequent Urination)

ग्रीन टी हमारे शरीर के लिए लाभकारी होती है लेकिन कया आप जानते है की ग्रीन टी बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय में भी शामिल है| ग्रीन टी में मौजूद औषधीय गुण और तत्व बार पेशाब आने की परेशानी से राहत दिला सकती है, नियमित रूप से सुबह और शाम ग्रीन टी (Home Remedies For Frequent Urination) पीने से बहुत जल्द आराम प्राप्त होता है|

महिलाओं को बार-बार पेशाब आने के कारण

महिलाओं को बार-बार पेशाब आना (Home Remedies For Frequent Urination) – पुरुषो के मुकाबले महिलाओ के शरीर की बनावट और अंदरूनी स्थिति काफी ज्यादा अलग होती है| महिलाओ के शरीर में आने वाले बदलाव की वजह से भी काफी सारी परेशानियो का सामना करना पड़ता है, महिलाओ को बार बार पेशाब आने की समस्या का सामना करना पड़ जाता है, जब किसी महिला को बार बार पेशाब आता है तो ऐसी महिला इंटरनेट पर महिलाओ को बार बार पेशाब आने के कारण कया है? महिलाओ को ज्यादा पेशाब आने की वजह कया है? महिलाओ में बार पेशाब क्यों आता है? इत्यादि लिखकर सर्च करती है| चलिए अब हम आपको महिलाओ में बार बार पेशाब आने के कारण के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

  • मधुमेह (डायबिटीज) से पीड़ित होना
  • ओवरएक्टिव ब्लैडर की वजह से यूटीआई इंफेक्शन
  • पेल्विक फ्लोर के कमजोर होने की वजह से
  • वैजिनाइटिस (ठजाइना में सूजन) का होना|
  • मूत्राशय में पथरी
  • प्रेग्नेंसी की वजह से
  • एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर कम हो जाना|
  • इंटरस्टिशियल सिस्टिटिस

निष्कर्ष

हम आशा करते है की आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय या द्वार बार पेशाब आने की दवा (Home Remedies For Frequent Urination) में दी गई जानकारी पसंद आई होगी लेकिन अगर आप और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप गूगल या बिंग पर बार बार पेशाब आने के घरेलू उपाय या बार बार पेशाब आने की दवा (Home Remedies For Frequent Urination) लिखकर सर्च कर सकते है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *